HTML kya hai

HTML kya hai - what is html in hindi

 hello दोस्तों तो कैसे है आप लोग monkeyweb के इस लये blog HTML kya hai what is html in Hindi में आपका स्वागत है

अगर आप ऑनलाइन earning करने के लिये किसी Freelancing website pe website desgining जैसे कम  काम करना चाहते है या आप blogging करना चाहते है या फिर आप programming language सीखना चाहते है तो ऐसे में आपने programming जाहिर सी बात है किसी भी new technology को सीखने से पहले उसके बारे में जान लेन चहिये

तो दोस्तों HTML एक तरह की Markup language कहते है और साथ ही द्सोत ये बहुत ही जादा useful

HTML kya hai what is html in Hindi

HTML या (Hyper text markup language ) जैसा की इसके नाम से ही पता चलता है यह एक markup language है यानि ऐसी language जो normal language से थोड़ी अलग है

यानि इस language and “Hyper text”  यानि कुछ अलग तरह के text तो दोस्तों मतलब HTML kya hai What is html in Hindi तो यही है की यहाँ पर आपको एक ऐसी language के बारे में padna होता है जहा आपको Hyperlink मिलते है कुछ tags मिलते है और कुछ तरह के अलग – अलग elements और भी बहुत कुछहम internet पर जो website या webpages  देखते है HTML से हम उस तरह की websites को desgine करते है html का use उसी तरह की websites को बनानने के लिये किया जाता है हां

इसके लिये Javascript / Css जैसी technology /programming का use लिया जाता है लेकिन द्सोतो html को आये हुवे काफी समय हो गया लेकिन आज भी html आपको हर जगह देखने को मिल जाता है

Post ADD ____________

Hypertext –

तो आइये जनते है की Hyper text kya hota hai ये थोड़े अलग तरह के होते है by default इसका कलर blue होता है हम सभी जानते हो की किसी भी website पर एक जगह click करने के बाद हम दुसरे जगह पहुच  जाते है तो दोस्तों वही Hyper text होता है जो एक तरह का link होता है

Markup language –

markup language तो हम सभी जनते है HTML हमारी website के structure को manage करता है

यह  एक  Computer  language  होती   है  जिसको  tags  fonts  और  साथ  ही  keywords  की  अच्छी  समझ  होती  है  जिसके  हेल्प  से  वो  websiite  के   सभी webpages  को  read  करती  है

Bbc , Sgml Html ये सभी एक तरह की markup लैंग्वेज है जो प्रोग्राम्स को समझने का काम करती है है 

Also Read – TOP 5 programming languages

History of Html in hindi –

तो अब आपको History Of HTMl in hindi के बारे मे बताऊंगा ताकि आपको इसके बारे me पूरी जानकारी हो जाएगी aur यह भी बताऊंगा ki HTMl me kon kon se version है wase abhi texhology kafi badal गयी है और आज के time me ham HTMl 5 का use kar

रहे है जोकि HTML के पहले ke सभी versions se jada developed है to चलिए अब जानते है History Of HTMl in hindi

History Of HTMl in hindi –

Html 1

सबसे पहले Tim barners lee ने 1991 me HTMl ka concept लाया था  इसको develop karne ka उनका main goal ये था की े internet based aisa system bnana चाहते थे जिसके जरिये हम किसी भी तरह ke Document ya फाइल को Hyper Text ke Form me

dusre systems ke sath आसानी से share कर सके aur us समय Hyper Text markup Language me muskil  se 16 से 18 tags ही हुआ करते थे     

Html 2

इसके बाद HTMl 1 me काम ke अनुसार काफी बदलाव किये गये जिसके बाद hamare shamne HTML 2 लाया गया HTMl ka ye Version 1995 me कुछ extra बदलाव के साथ लाया गया था 

Html 3

इसके बाद HTML ne अपना new version HTML 3 lauch kiya लेकिन ye apne nye tags की implimentation shi तरीके se नही कर पा रहा था और इसके बाद w3c यानी world wide web Consortium ne  HTML को मानीकृत kiya और HTML 3.2 release kiya

Html 4

hTMl का यह Version अबतक आये सभी Version से अलग tha यहा आपको बहुत से नये tags mil jate hai sath ही yah style sheet,  scripting और frames ki machanisam ke साथ आता है aur in सभी को HTML 4.01 के साथ लाया गया था wase HTML ke 4.0 Version ka upgrade Version jaisa है जहा उसमे पहले आने वाली सभी errors को सही करके relese kiya गया था History Of HTMl in hindi

html 5

 तो दोस्तों  History Of HTMl in hindi में  मै  आपको  Html 5  के  बारे  में  बताता  हु जैसा हम  सभी लोग    जानते  है HTMl 5 पर  ही  काम  करते  है  ये  HTml    सबसे  latest  version  है और  ये   पहले  के  सभी  html  version  के  तुलना  में  बहुत  ज्यादा  useful  है 

html  5  को  W 3 C  और  Web Hypertext Application  Technology  Working  Group  से  तैयार  किया  गया   था इसको 2014  में  relese  किया  गया  था  web  Development  करने  के  लिए  Html 5  में  बहुत  से  useful  नये  tags  और  atribute  दिए  गए  है

Feature of Html 5 –

features of html5

html  5  में  बहुत  से  ऐसे  नए  feature  है  History Of HTMl in hindi में  हम  इसके  बारे  में  जानते  है   अगर  आपको   एक mordern  webiste  develop  करनी  है  जहा  वो  सभी  requirment  हो  जैसे  animation  , navbar  , और  एक  form  तो  यह  सभी  काम  आप  html 5  से  आसानी  से  कर सकते  है  

 Audio /Video  – html  में  आपको  ऐसे  टैग्स  भी  मिलते  है जिसकी  हेल्प  से  आप  अपने  webpage  में  कोई  भी  audio   या video  add   कर सकते  है  और  यह  लगभग  सभी  formats  को  support   करता है  History Of HTMl in hindi

 Audio /Video  – html  में  आपको  ऐसे  टैग्स  भी  मिलते  है जिसकी  हेल्प  से  आप  अपने  webpage  में  कोई  भी  audio   या video  add   कर सकते  है  और  यह  लगभग  सभी  formats  को  support   करता है  History Of HTMl in hindi

Python ko kaise Install kre –

Basic Structure of HTML –

के  basic  structer   में  mainly  char  part  होता  है  जिसमे  हम  Html  का  code  लिखते  है   और इसके  सभी  part अपने  आप  में  अलग  तरह  का  format  रखते   है  तो  चलिये  Basic Structure of HTML   में   मै  आपको  इनके  बारे  में  पूरी  detail  से  बताऊंगा  

<!DOCTYPE html>
<html>
<head>
	<title> --------- </title>
</head>
<body>

</body>
</html>

The DOCTYPE –

                        <!DOCTYPE html>

हम Html  का  कोई  भी  basic  code  देखते  है  तो  हमको  वह  पर  ये  देखने  को  मिल   जाता है  एक  तरह  का notation  है  जो  browser  को  ये  बताने  में  हेल्प  करता  है की  यह  किस  तरह  का  document  है  

<DOCTYPE!> का  use  हम  html 5  में  coding  करते  समय  करते  है  जोकि  यह  declire  करता  है   की हम  html 5  use  कर  रहे  है  html  के  और  दूसरे  versions  में  अलग  अलग  तरह  के  DTD  का  use  किया  जाता   है

Does HTML5 Works without DOCTYPE –

Html  5  काफी  advance   है  लेकिन  फिर  भी बहुत  से  लोगो  का   ये question  रहता  है  की  वैसे  doctype  use  karna  किसी  भी  professinol  developer  की  एक  अच्छी  practice  रहती   है लेकिन  अगर   हम इसको  अपने  कोड   में use  na  करे  तो  क्या  हमारा  code  work  नहीं  करेगा 

अगर  हम   अपने html  code    doctype  उसे  नहीं  करते  तो  जिस  broeser   में  हम अपने  code   को run  करते   है उसको   पता    चल पाता  है  की  यह  document किस  टाइप  का  है  

और  ऐसे  में  अब  वह   ये काम   अपनी algoritem   छोड   देता  है अगर  वो  browser  html 5  support  करता  है     html  file  आसानी   से रन  हो  जाता  है  वासे  आजकल  ज्यादातर  internet browser  html   5   को समझते  है  

The Container

<html>


-------- <DocElements>


</html>

Container html में हम जितने भी कोड करते है उन सभी को हमें एक container अंदर लिखना पड़ता है doctype लिखने के बाद या फिर आप ऐसा कह सकते है की आपका DTD भी इसी container के अंदर आता है ये

<html> से स्टार्ट होता है और इसको Close करने </html> का use किया जाता है

Head Section –

html  के  structure में  head  section  का  main  role  रहता  है  यहाँ  पर  आपकी  website  का का  वह  सभी  meta data  store  होता  है  जिससे  आपका  webpage  जाना  जाता  है  मै  आपको  उन  सभी  को  detail  में  बताऊंगा   

Title –

<html>
         <head> 
                        <Title>

                        HTML kya hai what is html in Hindi  

                        </Title>
        </head>

</html>

किसी  भी  webpage  /document  का  यह  बहुत  जरुरी  हिस्सा  होता  है  जिससे  हम  उस  पेज  की  पहचान  कर  पाते  है  और  इसके  लिए  हम head  के  अंदर  title  tag  का  use  करते  है  

Script –

<!DOCTYPE html>
<html>
<head>
<title> 
         HTML kya hai what is html in Hindi 
</title>
           <script>         
        						       
                    result = 0;
		    function increment(amount) {
		    result += amount;
		      }		
	    
           </script>                  
  
</head> 
</body>
</html>>

हम  सभी  जानते  है  की  Html  के  साथ  साथ  java script  भी  उसे  की  जाती  है  तभी हमको  एक  perfact  result  मिल  पता  है  और  html  के  head  section  में  ही  हम  script tag  का  use  करके  किसी  भी  जावास्क्रिप्ट  कोड  को  html  में  run कराते    है

 

CSS-

<!DOCTYPE html>
<html>
<head>
<title> 
	 HTML kya hai what is html in Hindi
</title>
<script>
        result = 0;
	function increment(amount) {
	result += amount;
	 }
</script>                    
      	
             <style>

                      table {
                width: 100%;
               border-color: black;
                           }

             </style>
</head>
</body>
</html>>

cascading  style  sheet  किसी  भी  html  code  के  साथ  css  को  add  करने  का  तीन  method  होता  है  उनमे  से  अगर  आपको  internal  css  का  use  

करना  hoga  तो  उसको  हम  head  के  अंदर  style  tag  की  help  से  करते  है  

Body –

ये html structure का sabse बड़ा container होता है जिसको Body कहते है आप जब भी किसी website पर जाते है तो वह पर आपको बहुत सी चीजे देखने को मिलती है और जैसे text , Video Audio और Images तो आपके मन में swal जरूर से आया होगा की ये आती कहा से है तो Html में Body tag के अंदर बहुत से अलग अलग तरह के tags use hote है जिनकी जिनका use करके हम ये सभी website में add करते है

<!DOCTYPE html>
<html>
<head>
<title> 
          HTML kya hai what is html in Hindi 
</title>
</head>

<body>

	 <h1> HTML kyahai what is html in Hindi </h1>

</body>
</html>

जाइए  अगर हमको  अपनी  वेबपेज  पर  कोई  heading  लिखनी  है  तो  हम  उसके  लिए  h 1  tag  का  use  करते  है          <h1  >   —-     <h 1>

What is Html Tags

( HTml tags kya hote hai )

HTMl tags kya hota hai

HTml tags kya hote hai तो आइये जानते है इनके बारे में html में जो कुछ भी आपको angular breakets < > में लिखा दिख जाये उसी को html tags कहते है

html tags एक तरह के hidden keywords होते है जो html में किसी भी text को यह instruction देते है की उसको किस तरह performe करना है html tags का पहले से भी important role रहा है चाहे फिर वो html 5 हो या फिर html1 सभी में html tags आपको main charcter में दिख जाते है

html5 पिछले अपने सभी version से जादा useful केवल इसी लिये हो पाया है की इसमें आपको बहुत से useful tags देखने को मिल जाते है जिससे इस्तमाल से आप बहुत सी advance काम कर सकते है

जैसे की Form tag , Table tag और Canvas ऐसे बहुत से है . और इनको इन सभी को लिखने का तरीका वही है इस सभी को हम Angular brackets < > के अन्दर लिखते हैहां html tags की ओपनिंग तो एक जैसी रहती है लेकिन इसकी Closing में थोडा अंतर सकता है

Container Tag –

<html> --------
                         <head>
<title> HTML kya hai  what is html in Hindi <title>
                         </head>

</html>--------

ये tags वो normal tags है इनको paired tags भी कहते है जिनका use हमने अपने पिछले exampels में किया है in tags को open और close दोनों ही किया जा सकता है

Empty Tag –

Empty tags – ये html tags का दूसरा type है जिसको हम singular tag भी कहा जाता है और ऐसा इसलिये है क्युकी ये tags की opening तो होती है लेकिन इसकी Closing नहीं होती है बाकि tags की तरह

No schema found.

Does html is important for blogging –

HTML kya hai what is html in Hindi तो आजकल कोडिंग सीखना तो एक trend sa चल गया है तो अगर अपने अबतक केवल इसके बारे में सुना ही है तो यही सही मौका है आप सभी से कोडिंग सीखना सुरु कर सकते है wase तो आज बहुत सी प्रोग्रम्मिग language technology है और मै अपने इस blog

को अपने उस भाइयो के लिये लाया हु जो Blogger / wordpress अभी start करे है तो मेरे ये भाई अच्छे से समज रहे होगे की HTML की क्या importance है

आप  चाहे  Blogger  use  करे या  Worldpress  अगर  आपके  पास  Html  की  जानकारी  है  तो  ये  आपके  लिए  एक  प्लस  point  होगा  क्युकी   दोस्तों  हम  सभी  जानते  है  की  हम  जिस  field  में  काम  करने  जा  रहे  है  उसमे  html  जैसे  लैंग्वेज  का use  होता  ही  है  

हां  अगर  worldpress  use  karne  का सोच  रहे  या  use  कर रहे तो  आपको  ज्यादा  परेशान  होने  की  जरुरत  नहीं  है  लेकिन  दोस्तों  अगर  आप  ब्लॉगर  से  स्टार्ट  करने  जा  रहे  तो  ज्यादा  deep  में  नहीं  लेकिन  आपको  basic  html  सीख  लेना  ही  बेहतर  होगा

Final word –

So friends hope You like this blog HTML kya hai what is html in Hindi and please Drop your valuable Comments about my blog and Also Share with your Friends be with us for more information |  जय  हिन्द

Post ADD ____________

Abhinav Srivastav

Hello dosto mera nam abhinav Srivastava hai aur abhi ek Student hu maine blogging 2019 me start kiya tha mughe blogging karna psand hai taki mai ap sabhi ko tecnology se jod saku

2 thoughts on “HTML kya hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *