What is cocomo model in hindi

What is cocomo model in hindi(1)

hello दोस्तों monkeyweb के इस नये blog what is cocomo model in hindi में आपका स्वागत है

आज के इस blog मे What is cocomo model in hindi ं मै आपको software engineering में एक बहुत ही जादा important model के बारे में बताऊंगा जिसको बोलते है COCOMO model यह model यह बहुत useful होता है

इसका उपयोग करके हम किसी software product की लागत, समय और effort को पता करने के लिये करते है की किसी software को develop करने के लिये किस तरह की प्रोसेस करना सही रहेगा और हमको इसको करने में कितना time लगेगा तो इन सभी चीजो को हम इस model से जान सकते है

What is cocomo model in hindi –

software engineering में हम COCOMO model को cost estimation के लिये उपयोग करते है इसका पूरा नाम ( Constructive cost model ) है cocomo model को में Boheam ने 1970s में develop किया था और 1981 में cocomo model को publish किया

इस model का use करके हम किसी भी software product को develop करने में कितनी cost लगेगी इसके बारे में जानकारी ले सकते है

साथ ही इस model में एक effort equation() भी होती है जो (person / month / number) के अनुसार यानि किसी project को बनाने के लिये कितने लोगो की जरुरत होगी और ये कितने time में बन कर ready हो जायगा इसका भी estimation() करता है

Types of COCOMO model

Bohem ने cost को estimate करने के लिये cocomo के तीन model को discribe किया जिसको हम अपने software projects में use कर सकते है तो आईये जानते है है उन तीन stages के बारे में

Types of COCOMO model

1. Basic COCOMO model –

Basic COCOMO cocomo model का पहला leval होता है इससे हम अपने software product की cost को लेकर एक rough और quick कैलकुलेशन ही कर सकते है

लेकिन इस model से हम cost की Accurate जानकारी नहीं ले सकते है क्युकी इसके पास बहुत से factors की कमी होती है

तो इस model का उपयोग छोटे और normal software projects का estimation करने के लिये किया जाता है जो अभी initial condition में होते है

इस model से cost estimation के लिये हम कुछ formule का use करते है जिसको आपको आना चाहिए

  • KLOC यह हमारे software का अनुमानित size को represent करता है
  • a1,a2,b1,b2 एक तरह का constant है जोकि software product की हर category के लिये use होता है
  • Tdev software को develop करने में लगा अनुमानित time है
  • Effort यह किसी software product को develop करने में लगा कुल effort को represent करता है
  • PM ये software के लिये person month को बताता है

2.Intermediate COCOMO Model

यह model बेसिक cocomo model से advance होता है अगर हम बेसिक model की बात करे तो उसके अनुसार किसी भी software का effort उसके line of code में होता है

लेकिन software development में हम सिर्फ line of code को देख कर उसके effort को calculate नहीं कर सकते है

इसके लिये हमको और भी फैक्टर्स पर ध्यान देन होग जैसे की अनुभव , विस्वसनीयता और strength और इन सभी को हम cost factors कहते है जिसको हम इस model में use में लेते है

यह model हमको पहले leval के बेसिक model से बेहतर result देता है और इसका main reason है cost drivers

3- Complate COCOMO model

यह model अपने में complate होता है यह इंटरमीडिएट model का extention होता है यह model हर step के लिये effort multipliters का use करता है

इस model में बहुत कम गलतिय होती है क्युकी इस model में सभी sub sysytem की cost को अलग अलग estimate किया जाता है

Compalte cocomo model या detailed cocomo model में पुरे software को अलग अलग moduls में devide कर दिया जाता है और उसके बाद हम उसमे COCOMO को apply करते है ताकि हम उनके effort और cost को estimate कर सके

complate cocomo के total 6 phase होते है –

  1. planning and requirment
  2. system design
  3. Detailed design
  4. Module code and test
  5. integration and test
  6. cost

Final word

So friends hope You like this blog What is cocomo model in hindi and please Drop your valuable Comments about my blog and Also Share with your Friends be with us for more information |  जय  हिन्द

Leave a Comment

x